WhatsApp Group - मंडी भाव

Join Now

ड्रोन खरीदने पर किसानों को सरकार दे रही 50% सब्सिडी

कृषि क्षेत्र में आधुनिकता को अपनाया जा रहा है, और कृषि कार्यों को आसान बनाया जा रहा है, आए दिन सरकार भी कृषि क्षेत्र में बड़े बदलाव ला रही हैं, इस हेतु नई – नई योजनाएं किसानों के लिए सरकार द्वारा लाई जाती है, कृषि क्षेत्र में दवाई के छिड़काव हेतु केंद्र सरकार के द्वारा ड्रोन सब्सिडी योजना (Drone Subsidy Yojana) चलाई जा रही है।

इस योजना में किसानों को आधी कीमत में ड्रोन प्रदान किया जाएगा जिससे किसानों का काम आसान बनेगा और उनकी आय में भी वृद्धि होगी।

कृषि कार्य मैं ड्रोन का उपयोग करने से खेतों में किसान की लागत कम लगेगी और आय में भी बढ़ोतरी होगी इसीलिए सरकार किसानों को ड्रोन प्रदान करने और कृषि क्षेत्र में बदलाव करने में जुटी हुई है। सरकार किसान को सेवा प्रदान कर किसानों से उम्मीद लगाए हुए हैं, कि – उनको इस ड्रोन तकनीक से फायदा प्रदान हो।

किसानों को क्या होगा फायदा

जब सरकार द्वारा ड्रोन सब्सिडी योजना को किसानों तक पहुंचाने की नीति बनाई गई तब इसे प्रत्येक गांव के एक किसान तक पहुंचाने की योजना थी परंतु केंद्र सरकार द्वारा इसे बदल कर व्यक्तिगत खरीद पर आर्थिक सहायता प्रदान करने का फैसला लिया।

ताकि ड्रोन की खरीदी पर कोई भी रोक नहीं रहे और ज्यादा से ज्यादा इच्छुक किसान ड्रोन की खरीदी कर सके यदि आप भी किसान हैं, और ड्रोन खरीदना चाहते हैं, तो आगे जानते हैं, सरकार द्वारा ड्रोन पर प्रदान की जाने वाली सब्सिडी के बारे में…

पढे – किसान मानधन योजना से ले 3000 रुपए प्रति माह

ड्रोन सब्सिडी योजना (Drone Subsidy Yojana) क्या है ?

जैसा कि हमने जाना ड्रोन सब्सिडी योजना की शुरुआत केंद्र सरकार के द्वारा किसानों को सुविधा प्रदान करने के लिए की गई है, इस योजना में लैंड रिकॉर्ड के डिजिटलीकरण, फसल मूल्यांकन, कीटनाशक व पोषक तत्वों का छिड़काव करने हेतु सरकार अधिक से अधिक ड्रोन के उपयोग को बढ़ावा दे रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कृषि क्षेत्र में नई तकनीकों को लाने के लिए ड्रोन योजना के बजट का प्रावधान भी रखा है, ताकि किसानों को खेती किसानी से जुड़ी नई तकनीकी योजनाओं का लाभ प्रदान करवाया जा सकें।

फसल मे दवाई छिड़काव मे कारगर

ड्रोन के द्वारा बागवानी फसलों में काफी अच्छी तरीके से दवाई का छिड़काव किया जा सकता है, साथ ही अन्य फसलों पर भी ड्रोन के द्वारा दवाई का छिड़काव किया जा सकता है।

सरकार द्वारा पुराने तरीकों को बदलकर इस टेक्नोलॉजी के माध्यम से खेती को बेहतर तरीके से करने का प्रयास किया जा रहा है, इसीलिए सरकार द्वारा ड्रोन पर सब्सिडी प्रदान की जा रही है।

ड्रोन खरीदने पर कितनी सब्सिडी मिलेगी

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि – सरकार द्वारा किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए और कार्य को आसान बनाने के लिए किसानों को नई तकनीकों से जोड़ा जा रहा है। इस हेतु किसानों को सरकार द्वारा सब्सिडी प्रदान की जा रही है ताकि किसानों का उत्साह बड़े और वह इन तकनीकों का उपयोग खेती के कार्यों में करें।

drone in agriculture

ड्रोन पर सब्सिडी की बात करें तो यह सब्सिडी अलग-अलग वर्गों के हिसाब से अलग-अलग है, अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति और लघु व सीमांत किसानों महिला किसान और पूर्वोत्तर राज्य के किसानों को ड्रोन लगभग 50 प्रतिशत की सब्सिडी अधिकतम 5 लाख रुपये की सब्सिडी सरकार द्वारा दी जाएगी ।

इसके अलावा अन्य सभी किसान वर्गों को 40% की सब्सिडी या फिर अधिकतम 4 लाख रुपये की सहायता ड्रोन खरीदी योजना पर प्रदान की जाएगी।

ड्रोन उड़ाने हेतु किसानों को मिलेगा प्रशिक्षण

सरकार के द्वारा किसानों को नई तकनीक और नए कृषि यंत्रों को चलाने हेतु प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है, इस हेतु 5 कौशल विकास केंद्रों की स्थापना सरकार द्वारा की गई है, जिसमें की युवाओं को हार्वेस्टर, रोटावेटर, और ट्रैक्टर चलाने का प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है।

यह पांच कौशल केंद्र जबलपुर, सागर, भोपाल, ग्वालियर, और सतना मैं है, और यह भी कहा जा रहा है कि – छटवे कौशल विकास केंद्र को इंदौर में खोला जाएगा।

इन केंद्रों पर किसानों को ड्रोन उड़ाने के लिए भी प्रशिक्षण दिया जाएगा साथ ही ड्रोने का रखरखाव कैसे करें, और उसके संबंध में अन्य सभी जरूरी जानकारियों को भी प्रशिक्षण के दौरान किसानों को बताया जाएगा।

ड्रोन से फसल छिड़काव में क्या होगा फायदा

खेतों में ड्रोन का उपयोग कर फसलों में दवाई का छिड़काव करने से किसानों को कई फायदे होंगे जैसे के किसान बहुत ही कम समय में दवाई का छिड़काव कर सकेंगे, इसमें लागत तो कम लगेगी ही साथ में किसान का समय भी बचेगा ।

सबसे बड़ा फायदा तो यह है कि – किसान समय पर फसलों में कीटनाशकों का छिड़काव कर सकेंगे।

देश में ही ड्रोन के विकास को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने ड्रोन के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है, खेती में ड्रोन का उपयोग और उसके फायदे देख अब किसान भी ड्रोन तकनीक से कीटनाशक छिड़काव करने में रुचि ले रहे हैं।

ड्रोन से कितने समय में होता है दवाई का छिड़काव

यदि हम ड्रोन से फसलों में कीटनाशक के छिड़काव की बात करें तो ड्रोन के द्वारा लगभग 15 मिनट के समय में 2.5 एकड़ जमीन में कीटनाशक का छिड़काव कर दिया जाता है।

इसी कार्य को करने में किसानों को बहुत अधिक समय लगता था परंतु इसे ड्रोन के उपयोग से बहुत ही कम समय में किया जा सकता है।

सिंचाई निगरानी में भी ड्रोन होगा मददगार

ड्रोन एक आधुनिक यंत्र है, जिसमें कि कई प्रकार की तकनीकें शामिल हैं, ड्रोन के द्वारा खेतों में सिंचाई पर निगरानी भी रखी जा सकती है।

यदि कोई किसान बड़े पैमाने पर खेती कर रहा है, और सिंचाई मैं निगरानी रखने की आवश्यकता है, तो ड्रोने में लगे मल्टीस्पेक्ट्रेल सेंसर से सहायता मिलेगी क्योंकि यह शुष्क क्षेत्रों की पहचान कर लेता है।

join-mkisan-mandi-bhav-whatsapp-group

PM किसान सम्मान निधि टोल फ्री नंबर की शुरुआत


Leave a Comment

ऐप खोलें