WhatsApp Group - मंडी भाव

Join Now

फोटो के द्वारा जान सकते है मिट्टी की गुणवत्ता

अब स्मार्टफोन से जाने मिट्टी की सेहत

किस प्रकार की मिट्टी में कौन सी फसल की उपज अच्छी होगी, उस फसल में कितनी बार सिंचाई की आवश्यकता है, इन सब की जानकारी सही-सही लेने के लिए हमें मिट्टी की गुणवत्ता का पता होना आवश्यक है, क्योंकि यदि अच्छी गुणवत्ता की मिट्टी है, तो उसमें पौधे स्वस्थ होंगे और हमें उत्पादन प्राप्त होगा।

छोटे किसनों के लिए अधिक फायदेमंद

कई किसानों के द्वारा तो भूमि का मिट्टी परीक्षण करवा लिया जाता है, जिससे कि उन्हें फसल की पैदावार अच्छी मिले हैं, परंतु सभी छोटे व मध्यम किसान के लिए मृदा का परीक्षण करवाना संभव नहीं होता ऐसी स्थिति में अपने मोबाइल की मदद से अपनी मिट्टी की सेहत का पता लगा सकते है ।

अब घर बैठ कर अपने खेत की जमीन नापे – Khet Napne Wala App

फोटो के आधार पर मिट्टी परीक्षण

मिट्टी परीक्षण के लिए देशभर में सभी किसानों के पास एक जैसी सुविधाएं नहीं होती, वैज्ञानिकों की एक टीम इस पर काम कर रही है, जिससे कि मोबाइल के कैमरे से फोटो लेकर मिट्टी में उपलब्ध सभी उर्वरकों की मात्रा का पता लगाया जा सके।

इस रिसर्च टीम के मुताबिक फोटो आधारित सॉयल ऑर्गेनिक मैटर का अच्छा अध्ययन किया है, यह एप्लीकेशन मोबाइल के द्वारा भूमि की उर्वरा शक्ति को जांच करने का एक अच्छा विकल्प है।

कृषि-जलवायु क्षेत्रों की मिट्टी पर परीक्षण

भारत के पश्चिम बंगाल इलाके में किए इस परिक्षण में तीन जगह के कृषि जलवायु क्षेत्र के मिट्टी के सैंपल का उपयोग किया गया है । इसके द्वारा मिट्टी के रंग में अंतर का विश्लेषण कर SOM (सॉयल ऑर्गेनिक मैटर) की नापने की अच्छी मॉडलिंग का उपयोग करती है। इस तकनीक के द्वारा मिट्टी के स्वास्थ्य संबंधी सभी जानकारियां प्राप्त की जा सकती है।

पारंपरिक तरीको से ज्यादा बेहतर

इमेज एनालिसिस (Image Analysis) तकनीक से बहुत से पारंपरिक तरीकों से छुटकारा मिलेगा, यह मिट्टी की जांच करने का आसान तरीका होगा, क्योंकि इन पारंपरिक तरीकों में प्रयोगशाला में बहुत ही महंगे महंगे उपकरणों के द्वारा इस काम को किया जाता है।

The-quality-of-the-soil-can-be-known-through-the-photo

जिससे कि इसके संचालन मे बहुत ही ज्यादा श्रम की आवश्यकता होती है, यही काम इमेज एनालिसिस के द्वारा आपका एक छोटा स्मार्टफोन कर देगा ।

विशेषज्ञों की क्या राय है

डॉक्टर “कौसिक मजूमदार” अफ्रीकन इंस्टिट्यूट ऑफ़ प्लांट न्यूट्रिशन ने कहा ही की Soil Organic Matter (SOM) तकनीक मिट्टी परीक्षण का डाटा प्राप्त करने के लिए एक आसान तरीका है, इसके उपयोग से फसल उत्पादन के क्षेत्र में अच्छा विकास होगा और कृषि को आगे बढ़ाने के नए अवसर मिलते रहेंगे ।

पूर्वानुमान लगाने में सक्षम

इस तकनीक में मशीन लर्निंग (Machine Learning) का उपयोग किया गया है, जो SOM के मानकों को तेजी से पूर्वानुमान लगाने में सक्षम है, जिससे कि इसकी जानकारी पर अधिक भरोसा किया जा सकता हैं ।

join-mkisan-mandi-bhav-whatsapp-group
mp-kisan-app

मामूली निवेश से शुरू करे यह बिजनेस – Unique Business Idea

सोयाबीन की फसल में तना छेदक कीट नियंत्रण कैसे करें


Leave a Comment

ऐप खोलें