WhatsApp Group - मंडी भाव

Join Now

मधु क्रांति पोर्टल बढ़ाएगा किसानों की आय – Madhukranti Portal

मधु क्रांति पोर्टल क्या है ?

मधु क्रांति को शुरू करने का और मधु क्रांति पोर्टल (MadhuKranti Portal) बनाने को लेकर सरकार का मुख्य उद्देश्य किसानों की आय में वृद्धि को लेकर है। किसानों की आय में वृद्धि करने के लिए सरकार के द्वारा लगातार कई प्रयास किए जा रहे हैं, और किसानों के लिए कई नई योजनाओं का निर्माण किया जा रहा है।

इसी प्रकार आय वृद्धि के लिए मधु क्रांति का निर्माण किया और मधु क्रांति पोर्टल का निर्माण किया इस पोर्टल को हनी कॉर्नर के नाम से भी जाना जाता है।

इस पोर्टल पर मधुमक्खी पालक किसान बंधुओं को मधुमक्खी पालन से संबंधित सभी जानकारियां उपलब्ध होगी साथ ही साथ यह शहद के क्रय विक्रय और मधुमक्खी पालन से संबंध रखने वाली अन्य सभी जानकारियां इस पोर्टल पर आपको मिल जाएगी।

इसे पढे – मुर्गी की यह नस्ल देती है साल में 250 अंडे

शहद क्रांति से बढ़ेगी किसानों की आय

शहद क्रांति को बढ़ावा देने के लिए सरकार के द्वारा सब्सिडी भी प्रदान की जाती हैं, जिससे अधिक से अधिक किसान शहद क्रांति की ओर बड़े और अपनी खेती के साथ-साथ इस बिजनेस को भी करें, क्योंकि बाजार में शहद का बहुत ही अच्छा दाम होता है, और देश – विदेशों में भी इसकी अधिक मांग है।

यदि आप भी शहद का बिजनेस करना चाहते हैं, तो NBB का मधु क्रांति पोर्टल आपके लिए बहुत ही अच्छी जगह है, यहां पर आप सभी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।

मधु क्रांति पोर्टल का उद्देश्य

केंद्र सरकार के द्वारा मधु क्रांति पोर्टल के निर्माण का मुख्य उद्देश्य हनी फार्मिंग करने वाले हैं, सभी किसानों तक मधुमक्खी पालन से संबंधित सभी जानकारियों को पहुंचाने का है।

इस पोर्टल पर किसानों को मधुमक्खी पालन से संबंधित सभी जानकारियों के साथ बाजार में शहद के दाम और उस के साथ साथ मार्केट को खोजने में आसानी प्राप्त होगी।

जिससे कि किसानों की आर्थिक व्यवस्था में सुधार आएगा, हनी कॉर्नर और मधु क्रांति पोर्टल को शुरू करने के लिए नेशनल बी बोर्ड और इंडियन बैंक के बीच कुछ समझौता भी हुआ है। इस पोर्टल की शुरूआत राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड के द्वारा की गई हैं।

What-is-Madhu-Kranti-Portal

मधुक्रांति पोर्टल से किसानों को क्या लाभ प्राप्त होंगे

  • इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद आपको मधुमक्खी पालक किसान की पहचान मिलेगी।
  • किसान अपने शहद को मार्केट में आसानी से बेच पाएंगे।
  • इस पोर्टल पर किसानों को मधुमक्खी पालन से संबंधित जरूरी सभी जानकारियां प्राप्त हो जाएगी।
  • पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने पर एक लाख तक का बीमा लाभ भी किसानों को प्राप्त हो सकता है।
  • मधु क्रांति पोर्टल पर शहद का क्रय विक्रय आसानी से होने के कारण किसानों को बिचौलियों से भी मुक्ति मिलेगी।
  • मधु क्रांति पोर्टल के माध्यम से किसान अपने शहद की गुणवत्ता की जांच भी करवा सकते हैं।

गाँव मे शहद का अधिक उत्पादन

ग्रामीण इलाकों से प्रतिवर्ष 1.20 लाख टन शहद का उत्पादन होता है, इसी को देखते हुए मधु क्रांति पोर्टल की शुरूआत हुई है, जिससे कि ग्रामीण इलाकों में शहद के उत्पादन को और बढ़ावा दिया जा सके।

साथ ही ग्रामीण इलाकों में रहने वाले हैं, मध्यमवर्गीय और गरीब किसानों को आय का एक नया जरिया भी प्राप्त हो जाएगा। इतनी मात्रा में होने वाले शहद उत्पादन से लगभग 50 % शहद का निर्यात किया जाता है।

मधुमक्खी पालन पर सरकारी अनुदान

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत किसानों को 40 से 50 प्रतिशत अनुदान उद्यान विभाग के द्वारा दिया जाता है। मधुमक्खी पालन योजना के अंतर्गत विभाग के द्वारा सबसे पहले पात्र किसानों का चयन किया जाता है, जो भी किसान इसमें चयनित होता है।

उसके बाद उसे मधुमक्खी पालन का प्रशिक्षण दिया जाता है, विभागीय अधिकारियों के अनुसार मधुमक्खी पालन से किसान को एक पेटी से वर्ष में लगभग ₹10 हजार तक की बचत प्राप्त होगी और किसानों को इसके लिए आर्थिक व्यय भी अधिक नहीं करना पड़ता।

मधु क्रांति पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कैसे करें

मधु क्रांति पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करना आसान है, इस पोर्टल पर आप अपने मोबाइल से घर बैठे ही रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, उसके लिए आपको madhukranti.in जाकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा।

इस पोर्टल पर आपका रजिस्ट्रेशन सुनिश्चित होने के बाद आप इस पर शहद का क्रय विक्रय कर सकते हैं।

मधु क्रांति पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए किसान के पास आधार कार्ड, मोबाइल नंबर होना बहुत आवश्यक है।

अधिक जानकारी के लिए

यदि आप मधुमक्खी पालन के प्रति इच्छा रखते हैं, और अधिक जानकारी लेना चाहते हैं, तो इसके लिए आप राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड, बी विंग, जनपद रोड, जनपद भवन, दूसरी मंजिल, नई दिल्ली, में संपर्क कर सकते हैं।

वहां पर आपको पूर्ण जानकारी विस्तारित रूप से प्राप्त हो जाएगी। फोन नंबर – 011 23325265.

पोर्टल की कुछ खास बातें

मधु क्रांति पोर्टल पर किसानों को मधुमक्खी व्यवसाय से संबंधित सभी जानकारियां प्राप्त होगी साथ ही इससे संबंधित सभी सरकारी योजनाओं की जानकारी भी प्राप्त होगी।

यह पोर्टल नेशनल बी बोर्ड इंडिया (National Bee Board) की वेबसाइट है, जिसका उपयोग कर किसान अपना रजिस्ट्रेशन करके एक रजिस्टर्ड मधुमक्खी पालक बन सकते हैं।

मधु क्रांति पोर्टल (Madhu Kranti Portal) पर रजिस्ट्रेशन के लिए आपको कुछ शुल्क देना होता है, इस वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन फ्री नहीं होता है, इसके शुल्क की जानकारी आप वेबसाइट पर देख सकते हैं।

रजिस्ट्रेशन की पूर्ण प्रोसेस को करने के बाद और पेमेंट करने के पश्चात कुछ दिनों में आप का रजिस्ट्रेशन प्रोसेस कंप्लीट हो जाता है, तथा रजिस्ट्रेशन के समय पर दिए गए पते पर आपका रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट आपको प्राप्त हो जाएगा।

आपने कोई अन्य सोसाइटी बना रखी है, तो इस पोर्टल पर उसका रजिस्ट्रेशन भी करवा सकते हैं।

इस पोर्टल का रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरना बहुत ही आसान है, उस पर आपको सिर्फ पूछे हुए डिटेल्स को सही – सही भरना है।

यदि आप मधुमक्खी पालन के तहत शहद का क्रय – विक्रय करते हैं, तो भी आप अपना रजिस्ट्रेशन इस पोर्टल पर करवा सकते हैं।

कस्टम हायरिंग केंद्र सब्सिडी हेतु आवेदन करें

अब 2 घंटे में दिए जाएँगे किसानों को नए ट्रांसफार्मर


Leave a Comment

ऐप खोलें