WhatsApp Group - मंडी भाव

Join Now

जानवर भगाने की झटका मशीन – Jhatka Machine Price

Jhatka Machine – हमारे देश में कई क्षेत्र ऐसे हैं, जहां पर खेतों में जंगली जानवरों का आतंक होता है, ऐसे में किसानों को अपनी फसलों की सुरक्षा करने के लिए रात दिन फसलों की रखवाली करनी पड़ती है, फिर भी कोई ना कोई जंगली प्राणी हमारे खेत में घुस ही जाता है और हमारी फसलों को खा जाते हैं।

ऐसे में हमें बहुत नुकसान होता है, इन्हीं जंगली प्राणियो को भगाने के लिए एक मशीन जिसका नाम झटका मशीन है बनाई गई है ।

इस मशीन से संबंधित सभी जानकारी आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से देंगे जैसे झटका मशीन मशीन क्या है ? तथा यह कैसे काम करती है? और झटका मशीन की कीमत है।

इसे आप कैसे अपने खेतों में लगाकर जंगली जानवरों से अपनी फसलों को सुरक्षित रख सकते हैं।
इससे जुड़ी समस्त जानकारी हम आपको नीचे देने जा रहे हैं, पोस्ट को पूरा पढे ।

इस मशीन को आप ऑनलाइन भी मंगवा सकते हैं ?

यह जंगली प्राणियों से हमारी फसलों की रक्षा करने के लिए एक बहुत ही अद्भुत उपकरण है परंतु कई किसानों को अभी तक इस मशीन के बारे में जानकारी नहीं है, तो आज हम आपको इस मशीन के बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे।

झटका मशीन क्या है ? – Jhatka Machine

झटका मशीन एक ऐसी मशीन होती है, जो कि जंगली जानवरों से फसलों की सुरक्षा करने के लिए उपयोग में लाई जाती है।

यह मशीन सोलर उर्जा तथा 12 वोल्ट की बैटरी से चलती है, आप इसे दिन में सोलर ऊर्जा की सहायता से चला सकते हैं, तथा रात में 12 वोल्ट की बैटरी से भी चला सकते हैं।

यदि आप की फसलों को अधिक मात्रा में जंगली जानवर नुकसान पहुंचाते है, तो आप इस मशीन में लगी एक बटन को ऑन कर सकते हैं जिससे यह दिन में सौर ऊर्जा द्वारा तथा रात होते ही अपने आप 12 बोर की बैटरी के द्वारा स्वचालित हो जाएगी।

झटका मशीन का कैसे उपयोग करे

झटका मशीन के तारों को खेत के चारों तरफ चार से पांच लाइनों में घेरा बना कर बांध देना चाहिए। इसके बाद आप आप जब भी Jhatka Machine को ऑन करेंगे इसके द्वारा सभी तारों में करंट छोड़ दिया जाएगा।

जिससे कि यदि कोई भी जंगली जानवर खेतों में घुसने की कोशिश करेंगे तो वह तारों से टच हो जाएंगे जिससे कि उन्हें एक करंट का झटका लगेगा इस झटके के कारण वह खेतों में नहीं घुस पाएंगे।

झटका मशीन की वायरिंग कैसे करे

इसके लिए आपको खेत में तारों का घेराव करने के बाद एक -अर्थ और एक + मेन का कनेक्शन करना होता है, उसके बाद खेत के कोर्नर वाले भाग में जम्फर बांधना होता है।

यह मशीन कैसे काम करती है ?

जैसा कि आप जानते हैं, Zatka machine में बायरो के द्वारा करंट छोड़ा जाता है, परंतु इसका पता हमें कैसे चलेगा कि हमारे खेत में कोई जानवर घुसने की कोशिश कर रहा है।

इसके लिए इस झटका मशीन में एक सायरन या आप उसे ध्वनि यंत्र भी कह सकते हैं, लगा हुआ होता है।

jhatka-machine

जैसे ही कोई जंगली प्राणी हमारे खेतों में घुसने की कोशिश करता है, और जैसे ही वह किसी तार से टच होता है।

तो ऐसे में इस झटका मशीन में एक सायरन बजना शुरू हो जाता है, जिससे कि हमें यह पता चल जाता है कि जरूर कोई ना कोई जानवर हमारे खेत में घुसने की कोशिश कर रहा है ।

जानवरों को कोई नुकसान नहीं होता

ऐसा नहीं है कि इस मशीन के द्वारा जानवरों को मार दिया जाता है, बल्कि यह मशीन सिर्फ उन्हें खेतों से दूर रखने के लिए होती है।

इसके लिए इसमें एक और सुविधा होती है, जिसमें कि यह मशीन एक बार झटका देने के बाद 3 सेकंड तक झटका देना बंद कर देती है, जिससे कि जानवरों को इससे सिर्फ झटका महसूस होता है ना कि उनकी मृत्यु होती है।

सरकार के द्वारा मान्यता प्राप्त

यह मशीन जानवरों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ही सरकार के द्वारा मान्यता प्राप्त कर बाजारों में आई है।

परंतु आजकल बाजारों मेंभी इन मशीनों की कई डुप्लीकेट मशीनें आ गई है, जिनके कारण किसानों को इन्हें खरीदने में बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

तो आइए अब हम आपको सही मशीन का चयन कैसे करें इस बारे में कुछ बातें बताते हैं।

झटका मशीन इंसुलेटर के प्रकार

झटका मशीन इंसुलेटर बाजारो में अनेक प्रकार के है, जिनकी कीमत 3 रुपये से लेकर 10 रुपये या इससे महंगे भी मिलते है।

  • हुक इन्सुलेटर,
  • कॉर्नर इंसुलेटर,
  • सफेद हुक इन्सुलेटर,
  • रिल इंसुलेटर,
  • जंबो रिल इंसुलेटर तथा
  • सिरेमिक इन्सुलेटर आदि प्रकार के मिलते हैं।

सही इंसुलेटर का चुनाव करे

जैसा कि आपने देखा होगा बाजारों में सोलर झटका मशीन के इंसुलेटर काले, सफेद आदि कई रंगों के मिलते हैं तथा इनका आकार एवं प्रकार भी अलग अलग होता है।

ऐसे में आपको सफेद वाले प्लास्टिक के इंसुलेटर को चुनना होता है क्योंकि यह बहुत ही मजबूत होता है। वही काले रंग के प्लास्टिक के इंसुलेटर बहुत ही खराब क्वालिटी के होते हैं।

जो कि बहुत जल्द टूट जाते हैं, ऐसे में आपको इन काले रंग के प्लास्टिक इंसुलेटर का चयन नहीं करना चाहिए।

झटका मशीन की विशेष बातें

झटका मशीन में एक ऐसी बटन होती है, जिसे ऑन करते ही वह स्वचालित ऑन ऑफ हो जाती है, इसमें आपको बार-बार उसे चालू बंद करने की आवश्यकता नहीं होती।

यह मशीन पशुओं को अधिक चोट ना लगे इन सभी बातों को देखकर ही तैयार की गई है।

इस मशीन से जानवरों को झटका लगने के बाद 3 सेकंड के लिए झटका अपने आप बंद हो जाता है, यह सुविधा भी इस मशीन में उपलब्ध है, जिससे जानवरों की मृत्यु होने का खतरा नहीं होता है।

यदि इस मशीन के तार टूट कर फसलों में चले जाए तो भी इस मशीन को कोई नुकसान नहीं होता है, तथा इसकी बैटरी भी खराब नहीं होती है।

झटका मशीन की सहायता से खेतों की फसलों को जानवरों से सुरक्षित रखने में बहुत सहायता मिलती है।

यह मशीन जानवरों तथा इंसानों सभी के लिए सुरक्षित है, इसीलिए इसे सरकार द्वारा मान्यता भी प्राप्त की गई है।

झटका मशीन का रेट – Jhatka Machine price

यदि आप भी जंगली जानवरों से अपनी फसलों को बचाना चाहते हैं, तो आप इस मशीन को ऑनलाइन भी मंगा सकते हैं।

ऑनलाइन jhatka machine price 4000 से 6000 रुपये तक है, परंतु इसमें आपको बैटरी अलग से लेनी पड़ती है।

एक झटका मशीन 10 एकड़ खेत को कवर करती है, लेकिन यदि jhatka mashin, Battery, Solar PANAL और 100 PC Insulator का पूरा सेटिंग लेते हैं, तो 1 झटका मशीन की रेट Battery jhatka Machine Price 9 से 10 हजार रूपये होती है

झटका मशीन से जुड़े कुछ सवाल – FAQ

झटका मशीन की कीमत कितनी है?

यह मशीन आपको 4000 रुपये से लेकर 6000 रुपये में मिल जाती है, जिसमें बैटरी को अलग से लेना पड़ता है।

झटका मशीन क्या है ?

यह बैटरी करंट से चलने वाली एक मशीन है, जिसे जंगली जानवरों से फसलों को बचाने के लिए बनाया गया है।

झटका मशीन कैसे लगाते हैं ?

खेत के चारो तरफ मशीन की तार को फेलाया जाता है, ओर फिर मशीन को चालू किया जाता है। तार से टच करने पर जानवरो को झटका लगता है व सायरन आवाज करता है।


Leave a Comment

ऐप खोलें