WhatsApp Group - मंडी भाव

Join Now

किसानों को मुर्रा भैंस खरीदने पर मिलेगी 50% सब्सिडी

भैंस खरीदने पर मिलेगी 50% तक की सब्सिडी

किसानों को समृद्ध बनाने के लिए निरंतर सरकार द्वारा कई प्रयास किए जा रहे हैं, केंद्र सरकार के साथ-साथ राज्य सरकार भी किसानों के लिए कई योजनाएं चला रही हैं। इसी दिशा में किसानों की आय बढ़ाने के लिए राज्य सरकार के द्वारा मध्यप्रदेश में एक नई योजना की शुरुआत की जा रही है, इस योजना के द्वारा किसानों को 50% की सब्सिडी पर मुर्रा भैंस उपलब्ध करवाई जाएगी ताकि किसानों की आय बढ़ सके और राज्य में दूध उत्पादन को भी बढ़ावा मिल सके।

मुर्रा भैंस को लेकर राज्य सरकार की क्या योजना

आपको बता दें कि – मध्य प्रदेश सरकार किसानों के लिए एक नई योजना लेकर आई है, जिसे कि अभी कुछ जिलों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरुआत की जावेगी। यदि योजना का अच्छा परिणाम सामने आता है, तो उसे पूरे प्रदेश में लागू कर दिया जाएगा।

इस योजना के द्वारा छोटे और सीमांत कृषकों को मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा हरियाणा की मुर्रा भैंस 50% की सब्सिडी पर उपलब्ध कराई जाएगी और इसी के साथ ही किसानों को 6 माह का चारा भी सरकार द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य प्रदेश में दूध के उत्पादन को बढ़ावा देने के साथ-साथ किसान की आय में वृद्धि करना भी है।

Murrah buffalo photo

इन जिलों से होगी योजना की शुरूआत

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस योजना को सबसे पहले मध्य प्रदेश के रायसेन, विदिशा, और सीहोर जिले में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया जाएगा, और यह देखा जाएगा कि योजना कितनी सफल रहती है,

यदि योजना पूरी तरह से सफल होती है, तो इसे मध्य प्रदेश के अन्य जिलों में भी लागू कर दिया जाएगा ताकि सभी जिलों में किसानों को 50 फीसदी की राशि में मुर्रा भैंस प्राप्त हो सके।

इन्हे भी पढे – गहन खेती से कम भूमि व पानी में फसलें उगाने की तकनीक

हरियाणा से मंगवाई जाएगी मुर्रा भैंस

दूध का उत्पादन देखते हुए हरियाणा की मुर्रा भैंस को काफी अच्छा माना जाता है, इसी कारण मध्य प्रदेश सरकार द्वारा हरियाणा से मुर्रा भैंस बुलाई जाएगी।

आपकी जानकारी के लिए बता देंगे एक मुर्रा भैंस प्रतिदिन 12 से 15 लीटर तक दूध देती है, जो कि सामान्य अन्य भैंस की संख्या में काफी ज्यादा है, आगे अब इसकी कीमत के बारे में भी जान लेते हैं, यदि भैंस अच्छा दूध देती है, तो इसकी कीमत भी अधिक ही होगी।

एक मुर्रा भैंस की कीमत लगभग एक लाख रुपए के आसपास होती है, मध्य प्रदेश में पहली बार सरकार के द्वारा इस प्रकार के प्रोजेक्ट की शुरुआत की जा रही है, अन्य राज्यों के द्वारा भी ऐसी कुछ योजनाएं चलाई जा रही हैं।

किसानों को कितनी मिलेगी सब्सिडी

राज्य सरकार की योजना के द्वारा मुर्रा भैंस छोटे एवं सीमांत किसानों को 50% मतलब की आधे दाम पर प्राप्त होगी। यदि भैंस की कीमत ₹100000 के लगभग है, तो किसान की सब्सिडी 50% मतलब की लगभग ₹50000 सब्सिडी के रूप में प्राप्त होंगे ।

यह किसान अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के होंगे तो उन्हें सब्सिडी और अधिक प्राप्त होगी लगभग 75% तक और इस तरह उन्हें भैंस की और कम कीमत चुकानी पड़ेगी उन्हें एक लाख की भैंस लगभग ₹25000 ररुपये में प्राप्त हो जाएगी।

एक किसान को मिलेगी 2 भैंस

इस योजना के तहत किसानों को दो भैंस प्रदान की जाएगी, इसमें एक भैंस गर्भावस्था और दूसरी बच्चे के साथ होगी । ऐसा इसलिए किया जा रहा है, ताकि दूध का चक्र सही से बना रहे, और किसान की आय भी बनी रहे। सरकार के द्वारा यह योजना इसी साल अगस्त माह में चालू की जा रही हैं ।

दो भैंसों के लिए किसान को कितना पैसा देना होगा

दो भैंसों की बात करें तो उनकी कीमत लगभग ढाई लाख रुपए बताई जा रही है, जिसमें के भैंसों को लाने के लिए ट्रांसपोर्ट एवं भैंसों का बीमा, व चारे का खर्च भी शामिल है। ढाई लाख रुपयों में से किसान को लगभग ₹62,500 देने होंगे शेष ₹ 1,87,500 की सब्सिडी किसान को प्राप्त हो जाएगी।

भैंस की मृत्यु पर सरकार देगी दूसरी भैंस

किसान के भैंस खरीदने के बाद यदि 3 साल के अंदर भैंस की मृत्यु हो जाती है, तो सरकार के द्वारा किसान को दूसरी नई भेज दे दी जाएगी ताकि किसान की आय बनी रहे, और दूध का चक्र भी बना रहे।दूध बेचकर आज कई किसानों ने अच्छी आमदनी प्राप्त की है, दूध के व्यापार के लिए सरकार दूध डेयरी पर भी सब्सिडी प्रदान करती है, किसान चाहे तो एक छोटी दूध डेयरी खोलकर इससे अच्छा मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं।

5 साल देश को रखना होगा अनिवार्य

पशुपालन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार पशुपालक को भैंस को 5 साल रखना जरूरी होगा इन भैंसों का कृत्रिम गर्भाधान करवाया जाएगा, जिससे केवल मादा भैंस ही जन्म लेगी। इससे भैंसों की संख्या में और वृद्धि होगी और दूध के उत्पादन को ज्यादा से ज्यादा बढ़ाया जा सकेग । पशुपालक इन भैंसों से प्राप्त दूध को कई तरह से बेचकर अच्छा पैसा कमा सकते हैं जैसे कि – दूध से दही, पनीर आदि बनाकर।

हरियाणा की मुर्रा भैंस कुछ खासियत

मुर्रा भैंस, पालतू भैंस की एक प्रजाति है, जो दूध उत्पादन के लिए पाली जाती है।

  • हरियाणा की मुर्रा भैंस की कीमत लगभग ₹1,00,000 रुपए होती हैं।
  • यह मूलत: अविभाजित पंजाब का पशु है, लेकिन अब दूसरे प्रांतों तथा दूसरे देशों (जैसे इटली, बल्गेरिया, मिस्र आदि) में भी पाली जाती है।
  • हरियाणा की मुर्रा भैंस करीब 12 से 13 लीटर तक दूध दे सकती हैं, जो कि अन्य भैसो के मुकाबले में कई ज्यादा है।
  • एक मुर्रा भैंस की गर्भावस्था 310 दिन की होती है।
  • हरियाणा में मुर्रा भैंस को काला सोना कहा जाता है।
  • ज्यादा दूध उत्पादन के लिए मुर्रा भैंस सबसे अच्छी नस्ल मानी जाती हैं।
  • इसका उत्पत्ति स्थान हिसार से दिल्ली तक माना जाता है।

इन्हे भी पढे – गेहूं की इस किस्म से 75 क्विंटल प्रति हैक्टेयर का उत्पादन


Leave a Comment

ऐप खोलें