WhatsApp Group - मंडी भाव

Join Now

DAP की जगह SSP + यूरिया से मिलेगा अधिक लाभ

कृषि में पौधों के अच्छे विकास के लिए और एक अच्छी उपज प्राप्त करने के लिए किसान पौधों को जरूरी पोषक तत्व उपलब्ध कराता है। एक पौधे के विकास के लिए पोषक तत्व बहुत ही जरूरी है, खेत में लगातार फसल लेने के कारण और खेत में मिट्टी के लगातार नमी युक्त बने रहने के कारण पर्याप्त न सूखने के कारण मिट्टी के पोषक तत्व में कमी होती जाती हैं।

बाहरी पोषक तत्वों का उपयोग

इस हेतु पोषक तत्वों की पूर्ति करने के लिए किसानों को बाहरी तत्वों को मिट्टी में मिला ना पड़ता है ताकि एक पौधे की उपज के लिए मिट्टी के पास पर्याप्त पोषक तत्व उपलब्ध हो सके।

पोषक तत्वों की कमी को किसान रासायनिक एवं जैविक उर्वरकों को खेत में डालकर तत्वों की कमी को पूरा करते हैं, और अपनी पैदावार को बढ़ाते हैं।

इसे पढे – खरीफ फसलों के पंजीयन शुरू जाने क्या हे समर्थन मूल्य

डीएपी खाद के स्थान पर एसएसपी प्लस का उपयोग

अक्सर बाजार में डीएपी उर्वरक की कमी देखने को मिलती है, और यह उर्वरक कई किसानों को प्राप्त नहीं हो पाता है, ऐसी स्थिति में किसान डीएपी खाद के स्थान पर एसएसपी प्लस यूरिया का प्रयोग भी कर सकते हैं।

और अपनी जरूरत को पूरा कर सकते हैं, इससे एक फायदा यह भी है, कि यह किसान को काफी किफायती पड़ता है।

सिंगल सुपर फास्फेट (SSP) में कौन से तत्व हैं ?

खेत की मिट्टी में कई प्रकार के जरूरी पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो के पौधों की वृद्धि के लिए महत्वपूर्ण होते हैं, और इन्हीं तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए किसान बाहर से रासायनिक और जैविक खाद का प्रयोग करते हैं।

ऐसे में इन पोषक तत्वों की कमी को पूर्ति करने के लिए सिंगल सुपर फास्फेट (SSP) का उपयोग किया जाता है, आईये इसमे में कौन कौन से पोषक तत्व होते हैं, उनके बारे में जानते हैं…..

  • फास्फोरस 16%
  • सल्फर 11%
  • कैल्शियम 19%
  • जिंक 1%

सिंगल सुपर फास्फेट एक फॉस्फोरस युक्त उर्वरक है, जिसमें कि 16 प्रतिशत फॉस्फोरस एवं 11 प्रतिशत सल्फ़र की मात्रा पायी जाती है।

इसमें उपलब्ध सल्फ़र के कारण यह उर्वरक तिलहनी एवं दलहनी फसलों के लिए अन्य उर्वरकों की अपेक्षा अधिक लाभदायक है।

DAP की जगह SSP + यूरिया मिलेगा अधिक लाभ

  • सिंगल सुपर फॉस्फेट SSP उर्वरक DAP की अपेक्षा सस्ता है।
  • बाजार में आसानी से उपलब्ध है।
  • प्रति बैग DAP में 23 किलोग्राम फॉस्फोरस एवं 9 किलोग्राम नाइट्रोजन पाया जाता है।

फसलों में फॉस्फोरस, नत्रजन एवं सल्फर न्यूट्रेंटस की कमी को पूरा करने के लिए DAP + सल्फर के विकल्प के रूप में यदि SSP + यूरिया का उपयोग किया जाए, तो DAP + सल्फर से कम मूल्य पर अधिक नाईट्रोजन, फॉस्फोरस एवं सल्फर प्राप्त किया जा सकता है।

ssp-plus-urea

इसके लिए 1 बैग DAP + 16 किलोग्राम सल्फर के विकल्प के रूप 3 बैग SSP + 1 बैग यूरिया का प्रयोग किया जाता है, तो इससे भी कम मूल्य पर अधिक नाईट्रोजन, फॉस्फोरस एवं सल्फर प्राप्त किया जा सकता है।

DAP और SSP के उपयोग मे अंतर

DAP और SSP का उपयोग  किसान DAP + सल्फर एवं SSP + यूरिया दोनों में से कोई भी उर्वरक उपयोग कर सकते हैं।

लेकिन SSP + यूरिया किसानों के लिए डीएपी + सल्फर से ज्यादा सस्ता है। दोनों के मूल्य में अंतर के लिए किसान नीचे दी गई तालिका में देखें :-

DAP और सल्फर का उपयोग –

1 बैग DAP + 16 किलो सल्फर में पोषक तत्व की मात्रा एवं लागत

पोषक तत्वमात्राकुल खर्च
फाँस्फोरस23 किलोग्राम1350 रु.
नाईट्रोजन09 किलोग्राम
सल्फर16 किलोग्राम1600 रु.
योग2950 रुपये

सिंगल सुपर फास्फेट का उपयोग

3 बैग SSP + 1 बैग यूरिया में पोषक तत्व की मात्रा एवं लागत

पोषक तत्वमात्राकुल खर्च
फाँस्फोरस23 किलोग्राम(450×3) 1350 रु.
नाईट्रोजन09 किलोग्राम
सल्फर16 किलोग्राम267 रु.
योग1617 रुपये

फसल के अनुसार पोषक तत्वों की जरूरत

मौसम के अनुसार और अलग-अलग फसलो मैं पोषक तत्वों की जरूरत की मात्रा भी अलग-अलग होती है, बाजार में बहुत अलग-अलग तरह के खाद उपलब्ध है, जिनका उपयोग किसान खेती के लिए करते हैं।

कभी-कभी इन्होंने वर्गों की बाजार में बहुत अधिक कमी हो जाती है, और किसान कोई उर्वरक उपलब्ध नहीं हो पाते हैं, जिसके फल स्वरुप किसान खेतों में इन उर्वरकों का प्रयोग नहीं कर पाते हैं।

मिट्टी परीक्षण से जाने पोषक तत्वों की कमी

ऐसे समय में किसान अपने खेत की मिट्टी का परीक्षण करवा कर यह जान सकते हैं, कि मिट्टी में किन पोषक तत्वों की कमी है, और उसके अनुसार उर्वरक का प्रयोग कर सकते हैं।

join-mkisan-mandi-bhav-whatsapp-group

मध्यप्रदेश में 300 किलो प्याज बिका सिर्फ 2 रुपए में

मध्यप्रदेश का सफेद सोना छाया चायना तक


Leave a Comment

ऐप खोलें