WhatsApp Group - मंडी भाव

Join Now

खेत और बगीचे के लिए मिटटी तैयार करने का उत्तम तरीका

किसान के खेत की मिट्टी प्राकृतिक रुप से स्वस्थ हो, तो किसान की फसल के लिए लाभदायक होता है, लेकिन अगर मिट्टी स्वस्थ नहीं है, तो उसको कई तरह से उपजाऊ बनाना पड़ता है

एक अच्छे बगीचे के लिए अच्छी मिट्टी की जरूरत होती है, अगर आपने अपने खेत या बगीचे में सब्जी की खेती कर रखी है, तो यह लेख आपके लिए बहुत ही जरुरी है

बता दें कि सब्जियों की अच्छी फसल के लिए खेत में मिटटी की गुणवत्ता (Soil Quality)  बहुत अहम भूमिका निभाती है, इसलिए जब भी सब्जी की खेती करें,

तो खेत की मिटटी की गुणवत्ता के साथ – साथ मिटटी का किस तरह उपयोग करें, इस बात पर बहुत दें. तो चलिए जानते हैं कि सब्जी की फसल में मिटटी का किस तरह होनी चाहिए ?

रेतीली मिट्टी (Sandy Soil)

यदि आप सब्जी की पौध में रेतीली मिटटी का प्रयोग करते हैं, तो रेतीली मिट्टी पौधों की जड़ों तक भरपूर हवा पहुँचाती है, लेकिन समस्या यह है कि रेतीली  मिट्टी जल्दी से बह जाती है. नमी और पोषक तत्व दोनों खो देती है.

इसलिए रेतीली मिटटी में समय के साथ नियमित रूप से खाद और कटे हुए पत्तों को डालें, तो पौधे की वृधि अच्छी हो सकती है.

चिकनी मिट्टी (Clay soil)

चिकनी मिट्टी रेतीली मिट्टी के विपरीत होती है. यह पौधे में नमी को अच्छी तरह से रखती है-कभी-कभी बहुत अच्छी तरह से मिट्टी के महीन कण आपस में चिपक जाते हैं, लेकिन चिकनी मिटटी के उपयोग से फसल में जल निकासी अच्छे से नहीं हो पाती है,

साथ ही चिकनी मिटटी हवा को पौधों की जड़ों तक नहीं पहुंचने देती है. जिससे पौधे में विकास रुक सकता है. यदि आप खेत या बगीचे में चिकनी मिटटी का इस्तेमाल करते हैं,

तो इसके लिए मिट्टी भुरभुरा कर लें  और समय के साथ खाद, कटे हुए पत्ते, पीट काई और जिप्सम जैसे बहुत सारे कार्बनिक पदार्थ को मिटटी में मिला दें.

दोहरी खुदाई (Double Dig)

अगर आप अपने बगीचे में या खेत में खराब मिटटी का इस्तेमाल कर रहे हैं या मिटटी में गुणवत्ता की कमी है, तो इसके लिए आप खेत की मिटटी को दोहरी खुदाई कर सकते हैं.


सोर्स इन्हें भी पढ़े – फल और सब्जियों को दो महीने तक सुरक्षित रखेगा ये किफायती कूल चैंबर

विशेषज्ञों की सलाह, विदेशी सब्जियों और फल की खेती करें

Leave a Comment

ऐप खोलें